Motu Patlu Comedey Show | मोटू पतलू कॉमेडी शो की कहानी

0

नमस्कार janyukti.com में आपका बहुत-बहुत स्वागत है तो आज हम बात करने वाले हैं आप सभी का फेवरेट कॉमेडी सीरियल Motu Patlu के बारे में तो मोटू पतलू भारत में बनाया गया एक कार्टून शो है। जिस प्रकार बालवीर (Baal veer) शो बच्चों को बहुत पसंद है इसी प्रकार मोटू पतलू भी बच्चों को बहुत पसंद है। इसके निर्माता दीपा शाह है और इसका प्रसारण सर्वप्रथम 2012 में निक टीवी पर शुरुआत हुआ। इसके सबसे मुख्य पात्र मोटू और पतलू हैं। यह दोनों मित्र हैं। दोनों हर बार कोई हास्यप्रद समस्याओं में घिर जाते हैं और सौभाग्य से बच निकलते हैं। शो में उनके अन्य सहयोगियों के नाम घसीटा राम, इंस्पेक्टर चिंगम और डॉक्टर झटका हैं।

Motu Patlu कॉमेडी शो की कहानी

वैसें तो इसके हर भाग में एक अलग ही कहानी होती है जिसमें एक अलग ही आनंद होता है। लेकिन ये कहानी फुरफुरी नगर के दो दोस्तों, मोटू और पतलू के आसपास घूमती रहती है। दोनों के पास परेशानी आती रहती हैं। और वे दोनों मिल कर उस परेशानी को सामना भी करते हैं। मोटू को समोसे से बहुत प्यार होता है। अपने परेशानियों वाले पलों में भी मोटू अपने समोसों के प्यार के कारण फुरफुरी नगर के सबसे अच्छे समोसे बनाने वाले के पास से आए दिन समोसे चोरी करते रहता है। वहीं पतलू उसकी मदद के लिए हमेशा तैयार रहता है।

इन दोनों के अलावा घसीटाराम, इस्पेक्टर चिंगम और डॉ॰ झटका भी एक दूसरे की खेंचा-तानी करते रहते हैं, पर कभी कभी डॉ॰ झटका के अजीबो-गरीब प्रयोगों के लिए घसीटाराम झूठ बोल कर या किसी और तरह से मोटू और पतलू को फंसा भी देता है। मोटू जब समोसे खाता है, तो कुछ पल के लिए बहुत ही ज्यादा शक्तिशाली बन जाता है।

इन सभी से दूर, इन सभी का एक मुख्य दुश्मन भी है, जिसे “जॉन द डॉन” नाम से जाना जाता है, जो हमेशा से डॉन बनने की सोचता रहता है, लेकिन मोटू और पतलू के कारण उसका कोई भी प्लान कामयाब नहीं हो पाता है।

Motu Patlu Comedey शो के पात्र

मोटू (Motu) – मोटू दो मुख्य पात्रो मे से है। मोटू एक मोटा आदमी जिसे समोसा खाना पसन्द है। मोटू ज़ादातर यह डाइलोग कहता है – खाली पेट मेरे दिमाग की बत्ती नही चलती, तुम ही कुछ सोचो।

पतलू (Patlu) – पतलु भी दो मुख्य पात्रो मे से है। वह एक पतला आदमी जिसे चाय पीना पसन्द है। वह एक सल्हाकार है जो मोटू या फुरफुरी नगर के लोगो को सल्हा देता है। पतलू ज़ादातर हाथ की चुटकी मारते कहता है  – आइडिया

डॉ झटका – डॉ झटका मोटू पतलू का मित्र है। वह एक वैज्ञानिक है जो हमेशा यन्त्र बनाता रहता है तथा वह अपने परम मित्र घसीटाराम के साथ मिलकर मोटू पतलू को मूर्ख बनाता रहता है। झटका को आलू के परान्ठे (पन्जाब का पकवान) खाने का शौक है। वह ज़ादातर यह डाइलोग कहता है – मार सुटिया पापड़ वाले नू

घसीटाराम – वह डॉ झटका का परम मित्र है। घसीटा को रसगुल्ले खाने का शौक है। वह हमेशा कहता है – मुझे बीस साल का तजुरबा है।

चिन्गम – वह मोटू पतलू का मित्र है। वह फुरफुरी नगर का पोलिस इन्सपेक्टर है जिसे इडली खाने का शौक है। वह हमेशा कहता है – द नेम इस चिन्गम, इन्सपेक्टर चिन्गम, वाय फीयर वेन चिन्गम इस हियर, चिन्गम के चन्गुल से बचना यमपोसीबल बोलेतो यामपोसीबल, हय स्टोप स्टोप इन द नेम औफ लौ, तुम्हे कानून की कसम भारत माता की कसम हिन्दुस्थान की कसम स्टोप

जॉन – जॉन एक चोर है जो हमेशा फुरपुरी नगर मे चोरी करता रहता है पर मोटू पतलू जॉन को पकड़ कर चिन्गम के हवाले कर देते है। इसलिये वह हमेशा मोटू पतलू को फुरफुरी नगर से निकालने के लिये नयी-नयी योजनाये बनाता है। वह हमेशा कहता है –जॉन बनेगा डॉन।

  • चायवाला
  • बॉक्सर
  • बबलगम
  • जॉनी
  • अम्मा
  • सब्ज़ीवाली
  • वायेरस
  • मेयर मिस्टर सिन्ह
  • सनी
  • छोटू
  • मुन्नी
  • ट्रबलगम
  • दादा झटका

यह थी मोटू पतलू शो की कहानी तो आपको यह कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here