जानिए क्या है कुमकुम भाग्य की कहानी एवं किरदार | Kumkum bhagya serial story and Actors

0
Kumkum bhagya serial
Kum kum bhagya serial

नमस्कार इस लेख में हम बात करने वाले हैं कुमकुम भाग्य नाटक (Serial) के बारे में कुमकुम भाग्य ZEE TV पर प्रसारित होने वाला एक भारतीय हिन्दी हिंदी भाषा धारावाहिक नाटक (Serial) है, जिसकी शुरुआत 15 अप्रैल 2014 से हुई थी और इस सीरियल को ज़ी टीवी सोमवार से शुक्रवार रात 8 बजे प्रसारित करता है। इसका निर्माण एकता कपूर द्वारा किया गया है। इसका निर्देशन मुजम्मिल देसाई और शरद यादव ने किया है। यह पवित्र रिश्ता नामक धारावाहिक हिंदी नाटक के स्थान पर प्रसारित हो रहा है। कुमकुम भाग्य में मुख्य किरदार शब्बीर अहलूवालिया और सृति झाॅ ने निभाया है। तो आइए जानते हैं कुमकुम भाग्य की कहानी और इस सीरियल के किरदार –

कुमकुम भाग्य के निर्माण के बारे में कुछ बातें – A few things about the creation of Kumkum Bhagya serial

तो कुमकुम भाग्य एक प्रेम कहानी वाला नाटक है, जिसका निर्माण एकता कपूर और शोभा कपूर ने किया है। इस नाटक का नाम कुमकुम भाग्य रखा जाने में एक फैक्ट है जोकि एकता कपूर ने बताया है कि ‘क’ से शुरू होने वाले धारावाहिक के नाम उसके लिए भाग्यशाली होते हैं। इस लिए इस धारावाहिक का नाम भी ‘क’ से रखा गया।

Kumkum bhagya serial के बारे में बताते हुए ZEE TV के कार्यक्रम के मुख्य, नमित शर्मा कहना हैं कि- “यह धारावाहिक एक अच्छे धारावाहिक के जगह पर दिखाया जाएगा, इससे आप समझ सकते हैं की हमें इस पर कितना भरोसा है। यह धारावाहिक ZEE TV के 4 वर्षों से चल रहे एक बहुत ही विशेष धारावाहिक पवित्र रिश्ता का जगह लेगा। जो भारतीय दर्शकों का सबसे अधिक चहेता रहा है। रात को खाना खाते समय यह मानव और अर्चना की जोड़ी लाखों लोगों को बहुत पसंद है। कुमकुम भाग्य भी दूसरा सबसे अच्छी कहानी पर आधारित एक पंजाबी परिवार की है जो मुंबई में रहता है। जिसमें एक माँ अपनी दोनों बच्चियों के लिए एक आदर्श रिश्ता खोजते रहती है। एकता ने इसे एक सुन्दर प्रेम को नाट्य रूप दिया है जो अन्य रोज रोज के सास बहू के कहानी से बिलकुल अलग है।

कुमकुम भाग्य नाटक की कहानी – Story of Kumkum Bhagya drama

तो इस नाटक में मूल रूप से कुमकुम भाग्य नामक एक शादी के स्थान पर आधारित है। यहां लोग शादी के लिए जगह किराए पर लेते है। लेकिन इसमें मूल रूप से प्रज्ञा को दिखाया गया है। जिसकी शादी अभिषेक से होती है। अभिषेक अपनी बहन आलिया के कहने पर ही प्रज्ञा से शादी करता है। अभिषेक को लगता है कि वह तनु से प्यार करता है जबकि वह प्रज्ञा से प्यार करता है। कुछ दिनों के बाद आलिया ने प्रज्ञा की बहन बुलबुल का अपहरण करवाने का ठान लेती है। जिस बजह से वह पूरब से शादी न कर पाये और पूरब उसका हो सके। लेकिन अपहरण करने वाला बुलबुल के जगह प्रज्ञा को ले जाता है। प्रज्ञा को बचाने के लिए अभि उसके पीछे लग जाता है। वह दोनों ही अपहरण कर्ता के जाल में फंस जाते हैं। इसके बाद वो लोग प्रज्ञा को मारने वाले होते हैं और प्रज्ञा को बचाने के लिए अभि उसके सामने आ जाता है। अभि को गोली लग जाती है और वो दोनों खाई में गिर जाते हैं। इसके बाद प्रज्ञा अभि को दूर ले जाकर उसका इलाज करती है। उसके बाद प्रज्ञा अपनी दिल की बाद अभि को बताती है। अभि निर्णय नहीं ले पाता है। इसके बाद वह लोग घर में आ जाते हैं और अपहरण कर्ता पकड़ा जाता है।

प्रज्ञा बार बार अपने सवाल का जवाब लेने की कोशिश करती है। लेकिन अभि उसे नहीं बताता। एक रात अभि प्रज्ञा को अपने दिल की बात बताने का सोचता है। लेकिन तनु प्रज्ञा को कहती है कि वह अभि के बच्चे की माँ बनने वाली है। इसके बाद जब प्रज्ञा घर आती है तो अभि उससे अपने दिल की बात कहने की कोशिश करता है, लेकिन उससे पहले प्रज्ञा क्रोध में कह देती है कि वह नाटक कर रही थी उसे अभि से बिलकुल भी प्यार नहीं है। इसके बाद अभि भी क्रोध में आ जाता है और शराब पीने लग जाता है। प्रज्ञा अपने आप को घर से बाहर और तनु को घर के अंदर लाने का प्रयास करती है। इसमें वह और तनु कई प्रकार का रास्ता चुनते हैं। एक में तनु प्रज्ञा को अभि को मिले एक करोड़ रुपये चुराने को कहती है। प्रज्ञा उसे चुरा लेती है और तनु प्रज्ञा को पकड़ा देती है। लेकिन तभी तनु के जाँच का परिणाम आता है। लेकिन उसमें नाम में अभि और प्रज्ञा का रहता है। जिससे सभी को लगता है कि प्रज्ञा माँ बनने वाली है। इस कारण सभी खुश हो जाते है और उसके चोरी कि बात को भूल जाते हैं।

एक दिन अभि के जन्मदिन के समारोह के दौरान दादी बच्चे की बात सभी को बताती हैं, तभी प्रज्ञा आकार कहती है कि उसने बच्चे को गिरवा दिया। इस पर सभी घर वाले प्रज्ञा को कई सारे प्रश्न करते हैं और तनु भी आकार उसे कई बाते बोलती है। जिसके बाद अभि सच्चाई बता देता है कि प्रज्ञा माँ नहीं बनने वाली थी, वह जाँच के परिणाम गलत थे। उसने ही प्रज्ञा को यह झूठ बोलने के लिए कहा था। इसके बाद अगले दिन दादी उसी अस्पताल में इसकी जानकारी के लिए जाते हैं। लेकिन अभि और प्रज्ञा के कारण वह वहाँ असली कागज नहीं देख पाते। लेकिन घर पर आने के बाद उन्हें पता चलता है कि तनु माँ बनने वाली है। सभी को इस बात पर आश्चर्य होता है। इसके बाद तनु के पिता आकर कहते हैं कि इसके बच्चे का बाप अभि है। यह बात जानकर अभि की दादी उसे घर से निकाल देती है और प्रज्ञा को भी कहती है। लेकिन अभि उसे घर पर दादी की देखभाल के लिए रहने को कहता है। प्रज्ञा अभि और तनु की शादी के लिए दादी को मना लेती है।

उसके कुछ दिन बाद प्रज्ञा तनु की बात सुनती है कि उसके पेट में जो बच्चा है वह अभि का नहीं किसी और का है। इस कारण वह सदमे से बेहोश हो जाती है। तनु उसे देख कर अपने कमरे में रख कर चले जाती है। उसे इस बारे में नहीं पता होता की उसने बात सुन लिया है। इसके बाद जब प्रज्ञा को होश आता है वह इस बात को बताने के लिए अभि के कार्यालय में जाती है। जहाँ वह आलिया की बात सुनती है कि उसे तनु का सच पता है और वह इस बात को प्रमाणित कर देगी कि यह अभि का बच्चा है। वह अभि की सारी जायदाद लेकर उसे बर्बाद कर देना चाहती है और उसी ने एक कार्यक्रम के दौरान अभि पर पत्तर से चोटिल किया था।

वह इसी सोच के साथ कि अब क्या करे कैसे अभि को बचाए आदि सोचते समय उसका सड़क एक गाड़ी के कारण दुर्घटना हो जाता है। इसके बाद उसे दो लोग बचाकर अस्पताल ले जाते हैं। अन्य सभी को इस बात का पता चलता है लेकिन अस्पताल का पता नहीं जान पाते। बाद में प्रज्ञा को मरा हुआ घोषित कर देते हैं।

और इसके बाद लगभग एक माह बाद अचानक प्रज्ञा आती है। बाद में यह पता चलता है कि दादी और प्रज्ञा मिल कर यह योजना बनाए रहते हैं। साथ ही अस्पताल से प्रज्ञा को वापस लाने और उसे इस योजना में लाने और मृत घोषित करने के पीछे भी दादी का ही हाथ होता है। आलिया की असलियत सभी को दिखाने में अंत में प्रज्ञा सफल हो जाती है। इसके साथ साथ राज को भी पता चल जाता है कि उसके सारी समस्या की जड़ और कोई नहीं, बल्कि उसकी पत्नी मिताली है। इसके बाद प्रज्ञा को तनु और निखिल के बीच का रिश्ता पता चलता है, और वो इसे सभी के सामने लाने की कोशिश करती है। लेकिन इसी बीच तनु दुर्घटना का शिकार हो जाती है, जिससे गर्भपात हो जाता है। जिसका आरोप प्रज्ञा पर ही लग जाता है। पर अंत में प्रज्ञा सच्चाई सामने ले ही आती है और अभि का विश्वास फिर से पा लेती है। दोनों एक दूसरे से लोनावला में प्यार का इकरार करते हैं। प्यार का इकरार करने के बाद अभि एक कार दुर्घटना का शिकार बन जाता है और अपने पिछले ढाई साल में बिता हर चीज (प्रज्ञा को भी) भूल जाता है। प्रज्ञा उसे छोड़ कर चले जाती है, लेकिन तलाक नहीं लेती है।
और इसके बाद 2 माह बाद प्रज्ञा अभि के कंपनी से जुड़ती है और दोनों धीरे धीरे अच्छे दोस्त बन जाते हैं। अभि उसे अपना निजी सहायक बना लेता है। अभि के याददाश्त खोने का फायदा उठा कर प्रज्ञा को हमेशा के लिए दूर करने के लिए अभि और तनु की शादी कराने का सोचती है। वहीं प्रज्ञा उन दोनों की शादी से पहले अभि की याददाश्त वापस लाने की कोशिश करती है। अभि को अपने अतीत का थोड़ा थोड़ा हिस्सा याद आने लगता है और दोनों एक दूसरे से फिर प्यार का इजहार करते हैं। पर तनु की माँ कैंसर का झूठ बोल कर अभि को तनु से शादी करने के लिए मजबूर कर देती है। प्रज्ञा आखरी बार अभि से मिलने आती है, पर निखिल उसे बीच में ही अपहरण कर के ले जाता है। जब सरला अभि को बोलती है कि प्रज्ञा का अपहरण हो गया है, तो अभि शादी बीच में छोड़ कर प्रज्ञा को बचाने चले जाता है। जंगल में काफी भाग दौड़ करने के बाद अभि प्रज्ञा को बचा लेता है, दोनों जंगल से बाहर आते हैं तो अभि का कार से टक्कर हो जाता है और उसे सारी पुरानी बातें याद आ जाती है। दोनों फिर प्रज्ञा के पिता से मिलते हैं, उन्हें पता चलता है कि प्रज्ञा की दो बहनें हैं। निखिल के गुंडों से भागते हुए प्रज्ञा को गोली लग जाती है, और वो बांध में गिर जाती है। अभि उसे ढूँढने की बहुत कोशिश करता है, पर उसे असफलता ही हाथ लगती है। अभि थक हारकर जब घर आता है, तो सरला उससे प्रज्ञा के बारे में पूछती है, लेकिन तनु और आलिया उसे बाहर कर देते हैं। अभि उन दोनों को रोक देता है और बताता है कि उसकी याददाश्त वापस आ गई है।

और दो दिन बाद जब अभी किसी गांव जाता है तो उसे वहां प्रज्ञा जैसी दिखने वाली मुन्नी, एक गाँव में रहनी वाली लड़की दिखती है। वो उसे प्रज्ञा सोच कर अपने घर ले जाता है। आलिया मुन्नी को बोलती है कि यदि उसने जो कहा वैसा नहीं करेगी तो उसके बहन के बच्चों को वो मार देगी। प्रज्ञा कोमा से बाहर आते ही मुंबई में अभि से मिलने चले जाती है, जहाँ उसे पता चलता है कि अभि उसके जैसी दिखने वाली किसी लड़की से शादी कर चुका है। मुन्नी प्रज्ञा को आलिया के योजना के बारे में बताती है और इसके बाद प्रज्ञा मुन्नी बन कर वहाँ चले जाती है, जब तक कि मुन्नी को उसके बच्चे न मिल जाएँ। लेकिन तनु जलन के कारण बता देती है कि ये मुन्नी है और अभि उसे घर के बाहर फेक देता है। इसी बीच पूरब की मुलाक़ात दिशा (रुचि सवर्ण) से होती है। उसे संग्राम सिंह से बचाने के लिए पूरब उससे शादी कर लेता है। दिशा जब पूरब से अपने प्यार का इजहार करती है, तो पूरब अपने आप को दोषी मानने लगता है कि वो अपने पत्नी को उसके हक का प्यार नहीं दे पा रहा है। और ऐसी ही कई कहानियां इस कार्यक्रम मैं चलती रहती है।

और फिर 8 साल बाद अभि और प्रज्ञा दोनों अलग हो चुके होते हैं। आलिया अब अभि के व्यापार को संभालती है और वहीं आलिया और तनु की दोस्ती भी टूट जाती है। पूरब और दिशा का सनी नाम का बच्चा होता है। अभि की शादी तनु से हो जाती है और वहीं प्रज्ञा लंदन में अपनी बेटी कियारा के साथ रहती है। वो किंग सिंह की मैनेजर के रूप में काम करती है, कियारा उसे अपना पिता सोचती है, वहीं वो भी उसे अपनी बेटी की तरह ही प्यार करता है। अपने काम से प्रज्ञा दिल्ली में किंग और कियारा के साथ आती है, उसे ये पता नहीं होता है कि अभि अब दिल्ली में रह रहा है। दिल्ली में प्रज्ञा और अभिषेक आमने-सामने मिलते हैं, अभि उसे ही शादी के टूटने का दोषी बताता है। दिशा और पूरब को एहसास होता है कि कियारा अभिषेक और प्रज्ञा की बेटी है, लेकिन वे लोग ये बात अभिषेक से छुपाते हैं। और अब आगे यह कार्यक्रम चल रहा है आशा है कि आप पर कैसे कहानी पसंद आएगी अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिए।

कुमकुम भाग्य सीरियल के कलाकार – Kumkum Bhagya serial Actor’s

कुमकुम भाग्य में अनेक कलाकारों ने काम किया है। जिन्होंने अपना किरदार बहुत ही अच्छे से निभाया है। जिस वजह से यह कार्यक्रम इतना प्रचलित हुआ है तो आइए जानते हैं वह कौन से कलाकार हैं उनके बारे में और वह कौन है जो और कौन सा किरदार निभा रहे हैं। जानते हैं विस्तार से –

कुमकुम भाग्य सीरियल के
मुख्य कलाकार – Main cast of Kumkum Bhagya serial

  • सृति झा — स्मृति जाने कुमकुम भाग्य सीरियल में अपना एक अहम किरदार निभाया है इसमें वह प्रज्ञा अरोड़ा का किरदार निभा रही है।
  • शब्बीर अहलूवालिया — शब्बीर अहलूवालिया कुमकुम भाग्य सीरियल में एक नायक के रूप में अहम किरदार निभाया है वह अभिषेक (अभि) का किरदार निभा रहे हैं
  • अर्जित तनेजा / विन राणा — अर्जित तनेजा ने कुमकुम भाग्य सीरियल में अभिषेक का दोस्त एवं दिशा के पति के रूप में पूरब खन्ना नाम से अपना किरदार निभा रहे हैं।
  • रुचि सवर्ण — दिशा खन्ना ने कुमकुम भाग्य सीरियल में पूरब की दूसरी पत्नी का किरदार निभा रही है।
  • मृणल ठाकुर (पूर्व में) / काजल श्रीवास्तव — बुलबुल अरोरा ने कुमकुम भाग्य सीरियल में पूरब की पहली पत्नी के रूप में किरदार निभाया है और निभा रहे हैं।
  • मिशाल रहेजा — मिसाल रहेजा ने कुमकुम भाग्य सीरियल में किंग सिंह का एक मुख्य किरदार के रूप में निभाया है।

कुम कुम भाग्य सीरियल के अन्य कलाकार – Other actors of Kumkum Bhagya serial

  • फैज़ल राशिद – सुरेश
  • सुप्रिया शुक्ला – सरला अरोड़ा, बुलबुल और प्रज्ञा की माँ
  • अंकित मोहन – आकाश मेहरा
  • अदिति राठोड़ – रचना आकाश मेहरा
  • अमित धवन / अनुराग शर्मा – राज मेहता
  • समीक्षा भटनागर / स्वाति आनंद – मिताली राज मेहरा
  • मधु राजा (दलीजीत कौर अरोरा)
  • शिखा सिंह – आलिया मेहरा, अभिषेक की बहन
  • दलजीत सौंध – दादी
  • निखिल आर्य – निखिल सूद
  • सकलाइन राही खान – रॉकी
  • शुभम गर्ग – पूरब का मित्र
  • शिवानी सोपुरी – पम्मी मेहरा
  • मधुरिमा तुली / लीना जुमानी – तनु
  • नील मोटवानी / सुस्तम अरनब सिंह मुखर्जी – श्री कपूर
  • नेहा बम – पूरब की रिश्तेदार
  • बॉबी खन्ना – तनु के पिता
  • रोमा नवानी – तनु की माँ
  • नविना बोले – अभि की प्रशंसक
  • चारु मेहरा – पूर्वी

तो दोस्तों यह थी कुछ जानकारी कुमकुम भाग्य सीरियल के बारे में आपको यह कैसी लगी अगर अच्छी लगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिए और ऐसी जानकारी के लिए बने रहिए janyukti.com के साथ और इस लेख में बस इतना ही मिलते हैं अगले लेख में।

जनयुक्ति website में आपका बहुत-बहुत स्वागत है। आपको यहां आपको मिलेगी लेटेस्ट खबर, पॉलिटिकल उठापटक, मनोरंजन की दुनिया,अजब-गजब, व्यापार, नौकरी, खेल-खिलाड़ी, सोशल मीडिया का वायरल, फिल्म रिव्यू, खास मुद्दों पर माथापच्ची और बहुत कुछ. हिंदी में धड़ाधड़ खबरों, एक्सक्लूसिव वीडियोज़ से जुड़े रहने के लिए बने रहो जनयुक्ति (JanYukti) के साथ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here