जानिए सफेद मूसली क्या है इसके फायदे व नुकसान| Safed musli ke Fayde in hindi

3

भारत एक आयुर्वेदिक एवं हर्बल जैसी दवाओं का ज्यादा इस्तेमाल करता रहा है। एवं इस लेख में हम आपको सफेद मूसली क्या है एवं सफेद मूसली के फायदे (Safed musli ke fayde), नुकसान आदि के बारे में विस्तार से बताएंगे।

सफेद मूसली एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है जिसका प्रयोग भारत में बहुत अधिक लोगों को ठीक करने के लिए किया जाता है तो आइए जानते हैं सफेद मूसली आखिर क्या है इसकी जानकारी विस्तार से –

सफेद मूसली क्या है | What is Safed Musli in hindi

सफेद मूसली एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी पौधा है। यह पौधों के लिलियासी परिवार से संबंध रखता है। इस पौधे की जड़ों को औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता है। सफेद मूसली का उपयोग आयुर्वेद के अलावा यूनानी, होम्योपैथिक, एलोपैथिक, चिकित्सा पद्धति में भी किया जाता है। भारत के लिए यह एक प्रसिद्ध औषधीय पौधा है।

सफेद मूसली को विज्ञान की भाषा में क्लोरोफाइटम बोरीविलियेनम (Chlorophytum borivilianum) नाम से जाना जाता है। एवं भारत में से सफेद सोना, दिव्य औषध नाम से भी जाना जाता है।

सफेद मुसली की खेती भारत के मध्य प्रदेश उत्तर प्रदेश उत्तराखंड जैसे राज्यों में बहुत होती है। सफेद मूसली के पौधे की पहचान की बात करें तो इसके पत्ते लंबे लंबे एवं चिकने होते हैं। एवं सफेद फूल लगता है यह छोटा 6 कलियों वाला होता है। जैसा कि आप ऊपर दिए गए चित्र में देख पा रहे हो।

सफेद मूसली एक कामोत्तेजक औषधि है एवं इसके साथ-साथ इसका उपयोग शारीरिक बीमारी कमजोरी मधुमेह गठिया जैसी बीमारियों के लिए किया जाता है।

सफेद मूसली के फायदे | Safed Musli benefits in hindi

सफेद मूसली एक आयुर्वेदिक औषधि है एवं इसमें ऐसे बहुत से गुण है जो हमारे लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। लेकिन इसका प्रयोग डॉ की सलाह पर ही करना चाहिए। सफेद मूसली के फायदे कुछ इस प्रकार है-

  1. कामोत्तेजक एवं यौन शक्ति बढ़ाने में सफेद मूसली के लाभ- सफेद मूसली एक कामोत्तेजक आयुर्वेदिक औषधि है। इसके सेवन करने से लोगों में एवं शक्ति एवं सेक्स की इच्छा बढ़ाने में बहुत फायदेमंद होती है। यह शुक्राणुओं के उत्पादन को बढ़ाती है।
  2. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सफेद मूसली के लाभ- सफेद मूसली रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बहुत फायदेमंद है। जो लोग अधिकतर बीमार रहते हैं उनके लिए सफेद मूसली पाउडर या कैप्सूल का उपयोग करने से उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है। एवं हमें एक आत्मबल प्रदान करती है। आपको बता दें रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए वैज्ञानिकों द्वारा सफेद मूसली का प्रयोग मछलियों के ऊपर किया गया था। जिसमें मछलियां अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में फायदेमंद रिजल्ट सामने आए थे।
  3. मधुमेह (शुगर) के मरीजों के लिए सफेद मूसली के लाभ- सफेद मूसली शुगर के मरीजों के लिए एक रामबाण इलाज है। इसका सेवन करने से यह हमारे शरीर में इंसुलिन की मात्रा को बढ़ाता है एवं शुगर को सामान्य करता है। एवं शुगर के मरीज के लिए यौन संबंध बनाने के लिए भी फायदेमंद होता है।
  4. गर्भवती महिलाओं को सफेद मूसली के लाभ- सफेद मूसली गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद है। गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन गन्ने के जूस या जीरे के साथ करना चाहिए। जिससे इसका फायदा और अधिक मिलता है। सफेद मूसली जच्चा एवं बच्चा के लिए सेहतमंद है यह महिलाओं के खोए हुए पौष्टिक तत्व एवं धातु की पूर्ति करता है। महिलाओं में बच्चों के लिए दूध को बढ़ाती है।
  5. मोटापा घटाने में सफेद मूसली के लाभ- सफेद मूसली के सेवन से यह वसा को बाहर का रास्ता बनाने में मदद करता है एवं मोटापे को कम करता है। एवं यह पाचन शक्ति को भी तंदुरुस्त आता है।
  6. बांझपन व नपुंसकता में सफेद मूसली के लाभ- सफेद मूसली सदियों से चली आ रही एक दिव्य जड़ी बूटी है। इसके सेवन से यौन विकारों को दूर करती है। एवं बांझपन एवं नपुंसकता जैसी बीमारियों को ठीक करती है।
  7. श्वेत प्रदर रोग में सफेद मूसली के लाभ- श्वेत प्रदर रोग महिलाओं के लिए बहुत ही कष्टदायक होता है। इस रोग में महिलाओं की योनि से सफेद व बदबूदार पदार्थ निकलता है। सफेद मूसली के सेवन से यह समस्या ठीक हो जाती है।
  8. गठिया एवं जोड़ों के दर्द में सफेद मूसली के लाभ- सफेद मूसली में कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है। जो की हड्डियों को मजबूती प्रदान करती है। सफेद मूसली के सेवन से गठिया एवं जोड़ों दर्द को फायदा होता है।

सफेद मूसली के नुकसान | Safed Musli side effects in hindi

सफेद मूसली एक आयुर्वेदिक औषधि है। और आपको तो पता ही होगा की आयुर्वेदिक औषधि के नुकसान बहुत ही कम होते हैं। सफेद मूसली के सेवन से नाममात्र के साइड इफेक्ट हो सकते हैं। क्योंकि सफेद मूसली के नुकसान शोधकर्ताओं द्वारा बहुत कम देखे गए हैं।

लेकिन फिर भी सफेद मूसली का सेवन डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए। शुगर के मरीजों के लिए सफेद मूसली का सेवन सावधानी से करना चाहिए। अगर मैं पहले से कोई दवाई दे रही है तो सफेद मूसली का प्रयोग डॉक्टर की सलाह से ही करें।

सफेद मूसली का ज्यादा सेवन ना करें ओवरडोज लेने से आपका पेट खराब, दस्त, उल्टी जैसी नुकसान हो सकते हैं।

सफेद मुसली के बारे में और अधिक जानने के लिए नीचे दिए गए हेडिंग पर क्लिक करें

सफेद मूसली से संबंधित प्रश्न व उत्तर | FAQ of Safed musli in hindi

Q- सफेद मूसली क्या है?

Ans- सफेद मूसली एक औषधीय पौधा है यह कामोत्तेजक औषधि है इसका प्रयोग पाउडर या कैप्सूल के द्वारा किया जाता है। इसकी औषधि इसकी जड़ें है जो सफेद होती हैं।

Q- सफेद मूसली के फायदे क्या हैं?

Ans- सफेद मूसली के सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता एवं शक्ति शुगर मधुमेह एवं गर्भवती महिलाओं फायदेमंद है।

Q- सफेद मूसली पाउडर एवं कैप्सूल में क्या अंतर है?

Ans- सफेद मूसली पाउडर एवं कैप्सूल में कोई अंतर नहीं है आप कुछ भी ले सकते हैं। हां लेकिन डॉक्टर की सलाह पर ले तो और ही अच्छा होगा।

Q- क्या सफेद मूसली का उपयोग बच्चे कर सकते हैं?

Ans- जी हां सफेद मूसली का उपयोग बच्चे कर सकते हैं। 5 से 15 साल तक के बच्चे के लिए सफेद मूसली की सुराग 2 से 3 ग्राम की उपयुक्त है। एवं डॉक्टर की सलाह से लेना चाहिए।

Q- क्या सफेद मूसली को खाली पेट लिया जा सकता है?

Ans- जी हां आप सफेद मूसली को खाली पेट ले सकते हैं लेकिन आप इसका प्रयोग दूध या शहद के साथ करें।

यह लेख यहीं समाप्त करते हैं आशा करते हैं कि सफेद मुसली के बारे में आपको सही जानकारी मिली होगी। अगर इसमें कोई आपका प्रश्न है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं हम उसका उत्तर आपको जरूर देंगे।

3 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here