क्रैनबेरी [करौंदा] के फायदे व नुकसान, उपयोग | Crane berries in hindi

0

Crane berries in hindi: नमस्कार इस लेख में हम आपको बताएंगे की क्रैनबेरी (करौंदा) क्या है और इसके फायदे एवं नुकसान और उपयोगिता के बारे में बताएंगे। आप सभी को पता ही होगा कि क्रैनबेरी एक फल है। और यह बहुत ही पसंद किया जाने वाला फल है जो कि खट्टा होता है और पकने पर खट्टा मीठा होता है।

क्रैनबेरी इंग्लिश नाम है इसे हिंदी में करौंदा के नाम से जाना जाता है अब समझ आया कि करौंदे को क्रैनबेरी कहते हैं। जी हां आपको बता दें कि क्रैनबेरी (करौंदा) एक बहुत ही फायदेमंद और बहुत ही उपयोग किया जाने वाला फल है।

करौंदा का उत्पादन भारत के उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश में सबसे अधिक होता है। इसी के साथ अन्य देशों में भी इसका उत्पादन किया जाता है।
करौंदा एक झाड़ी एवं कांटेदार पेड़ होता है इसमें बहुत ही मजबूत कांटे होते हैं।

करौंदा की कई प्रजातियां होती हैं आपको बता दें करौंदा का फल हरा और लाल भी होता है और छोटा करौंदा और बड़ा करौंदा होता है जिसमें पड़ा करौंदा सबसे अधिक उपयोग किया जाता है किसकी खेती की जाती है। एवं छोटा करौंदा पहाड़ी इलाकों में देखने को मिलता है इसे भी खा सकते हैं।

चलिए अब हम बात करते हैं कि करौंदा (क्रैनबेरी) के फायदे क्या है-

क्रैनबेरी (करौंदा) के फायदे | crane berrie ke fayde in hindi

images 2020 07 13T124943.785

क्रेनबेरी के फल में एंटी ऑक्साइड सामग्री भरपूर मात्रा पाई जाती है। क्रैनबेरी मूत्र रोग, कैंसर एवं ब्लड प्रेशर की बीमारियों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। एवं करौंदा के सेवन से बहुत फायदे होते हैं जो कि इस प्रकार हैं-

कैंसर के उपचार में करोंदा के फायदे – Cranberrie for Prevents Cancer in Hindi

करौंदा के सेवन करने से कैंसर के मरीजों के लिए बहुत फायदा होता है। क्योंकि इसमें प्रोंथोसाइनिडिन की मात्रा अच्छी पाई जाती है जो कि कैंसर के लिए एंटीबॉडी का काम करता है। एवं यह पोषक तत्व ट्यूमर बनने से रोकता है। एवं कैंसर को फैलने से रोकता है।

मूत्र पथ संक्रमण में करौंदा (Crenberry) के फायदे

आपको बता दें कि क्रैनबेरी फल बहुत ही खट्टा होता है एवं इसमें प्रोंथोसाइनिडिन पोषक तत्व होता है। जोकि मूत्रमार्ग को संक्रमित होने होने से बचाता है एवं संक्रमित को ठीक करता है। मूत्र मार्ग में पाए जाने वाले बैक्टीरिया को मारता है एवं मूत्र संबंधी रोगों से दूर रखता है। और अगर क्रेनबेरी यानी कि करौंदा का जूस पिया जाए तो और अधिक फायदेमंद होता है।

करौंदे के पाचन शक्ति बढ़ाने में फायदा | Crane berries in hindi

पाचन क्रिया को ठीक करने एवं पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए जिन यौगिकों की आवश्यकता होती है वह सब करौंदा में भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। करौंदा की सेवन से पाचन शक्ति अच्छी होती है। यह सब यौगिक हेलिकोबैक्‍टर पाईलोरी (Helicobacter pylori) बैक्‍टीरिया को पेट के अंदर बढ़ने और फैलने से रोकते हैं। पाईलोरी बैक्‍टीरिया को पेट में नियंत्रित करना आवश्‍यक होता है क्‍योंकि इन बैक्‍टीरिया की अधिक मात्रा होने पर ये पेट के अल्‍सर (stomach ulcers) का कारण बनते हैं। करौंदा इन सब व्यक्तियों को दूर करता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में करौंदे के फायदे

आपको बता देंगे करौंदे में एंटीऑक्साइड और भी बहुत पोषक तत्व पाए जाते हैं जो कि शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में बहुत मदद करते हैं। एवं कई लोगों को होने से बचाते हैं। इसलिए करौंदे का जूस एवं रोजाना अचार बनाकर सेवन करना चाहिए।

हृदय रोग एवं उच्च रक्तचाप में करौंदे के फायदे | Crene Barrie ke Fayde

करौंदा हृदय रोग एवं उच्च रक्तचाप की बीमारी के लिए फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें फ्लैनोनोइड एंटीऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं जो कि एथेरोस्‍क्‍लेरोसिस (atherosclerosis) के खतरे को कम करने में मदद करते है। एथेरोस्‍क्‍लेरोसिस एक बीमारी है जिसमें रक्‍त में पाए जाने वाले वसा, कैल्शियम और कोलेस्‍ट्रॉल के निर्माण के कारण धमनियों में अवरोध (narrowed) उत्‍पन्‍न हो जाता है। इस प्रकार करौंदा हृदय रोग एवं उच्च रक्तचाप की बीमारी के लिए फायदेमंद होता है।

वजन कम करने में करौंदा के फायदे | Karonda benefits of weght loose in hindi

करौंदा (क्रैनबेरी) का जूस पीने से वजन घटाने में मदद मिलती है क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा होती है एवं इसका सेवन करने से भूख लंबे समय तक नहीं लगती है। एवं यह फैट को गलाकर बाहर निकालने में मदद करता है।

करौंदा के नुकसान | Crene berrie Bed side effects in hindi

करौंदा वैसे एक प्राकृतिक फल है इसके फायदे अनेक होते हैं लेकिन नुकसान बहुत कम देखे गए। लेकिन आपको बता दें कि यदि अगर आप स्तनपान करा रहे मेला है तो इसका सेवन बिल्कुल भी ना करें।

आपको बता दें कि क्रेनबेरी में सॅलिसीलिक एसिड पाया जाता है जोकि एस्प्रिन के समान होता है। अगर आपको एस्प्रिन से एलर्जी है तो इसका सेवन भी ना करें।

इसी के साथ आपको बता दें की क्रेनबेरी आने की करौदा का उपयोग सीमित मात्रा में करें इसका ज्यादा उपयोग ना करें।

करौंदा के उपयोग | Crene berrie uses in hindi

करौंदा का उपयोग कई प्रकार से किया जाता है। आपको बता दें कि करौंदा का उपयोग आप ऐसे ही साबुत फलों को खा सकते हैं लेकिन इसका उपयोग कई प्रकार से किया जाता है।

करौंदा का अचार डाल कर अब रोजाना इस्तेमाल कर सकते हैं। आपको बता दें कि करौंदा का उपयोग सबसे अधिक अचार बनाकर किया जाता है जोकि हर घर में करौंदा का अचार देखने को मिल जाएगा।

करौंदा का जूस बना कर भी दिया जाता है एवं सबसे अधिक इसका उपयोग जूस बनाकर भी किया जाता है एवं आपको बता दें कि करौंदा का जूस मार्केट में भी उपलब्ध होता है। जो की कई कंपनियां बनाती हैं जिसमें से सबसे प्रमुख है पतंजलि।

पके हुए करौंदा के फलों को ऐसे ही खाया जाता है। यह बहुत ही स्वादिष्ट और मीठे होते हैं। एवं करौंदे के फलों को सुखाकर रख लेने के बाद भी उपयोग किया जाता है।

इन्हें भी पढ़ें-
खुबानी के फायदे व नुकसान
जानिए सौंप के फायदे व नुकसान

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here