समूह-7(G-7) सम्मेलन में भारत को डोनाल्ड ट्रंप के द्वारा न्योता मिलने पर बोखलाया चीन

0

नमस्कार खबर यह है कि अमेरिका में होने वाले समूह-7 (Group-7) शिखर सम्मेलन में भारत को न्योता दिया गया है। इसके साथ 3 देशों को और आमंत्रित करने की योजना बनाई रही है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के द्वारा यह योजना बनाई गई है। जिस पर चीन ने अपनी नाराजगी जताते हुए कहां की बीजिंग के खिलाफ किसी भी गुट बंदी का प्रयास नाकाम रहेगा। इस पर चीन बोखलाया। एवं 2 जून मंगलवार को चीन ने यह प्रतिक्रिया दी।

आपको बता दें कि अमेरिका में होने वाले समूह-7 में दुनिया के सबसे अधिक सात विकसित अर्थव्यवस्थाओं का समूह है। जिसमें अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान और कनाडा यह देश इसके सदस्य हैं।

इन के मध्य होने वाले सम्मेलन में सुरक्षा अर्थव्यवस्था और जलवायु परिवर्तन से संबंधित सभी हर प्रमुख मुद्दों पर बैठक होती है एवं उन पर विचार किया जाता है।


दरअसल कोरोनावायरस महामारी के चलते ट्रंप ने इस सम्मेलन को सितंबर तक के लिए टाल दिया है। एवं उन्होंने अपनी इच्छा को व्यक्त करते हुए कहां की हमें समूह-7 का विस्तार करना चाहिए एवं इसमें भारत, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया एवं रूस को सदस्य बनाया जाना चाहिए। एवं इसे G-10 या G-11 बनाया जाना चाहिए।

विस्तार रूप में आपको बता दें कि भारत और तीन अन्य देशों को इस सम्मेलन में आमंत्रित करने पर ट्रम की योजनाओं के बारे में पूछे जाने पर चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लीजियन ने मीडिया में कहा – ”चीन का मानना ​​है कि सभी अंतरराष्ट्रीय संगठनों और सम्मेलनों को विभिन्न देशों के बीच आपसी विश्वास बढ़ाने वाला होना चाहिए, जिससे बहुपक्षीयता कायम रह सके और विश्व शांति तथा विकास को बढ़ावा मिल सके।”
तो ऐसे शब्दों के प्रयोग से सीधे तौर पर चीन बोखलाया हुआ नजर आ रहा है।

जनयुक्ति website में आपका बहुत-बहुत स्वागत है। आपको यहां आपको मिलेगी लेटेस्ट खबर, पॉलिटिकल उठापटक, मनोरंजन की दुनिया,अजब-गजब, व्यापार, नौकरी, खेल-खिलाड़ी, सोशल मीडिया का वायरल, फिल्म रिव्यू, खास मुद्दों पर माथापच्ची और बहुत कुछ. हिंदी में धड़ाधड़ खबरों, एक्सक्लूसिव वीडियोज़ से जुड़े रहने के लिए बने रहो जनयुक्ति (JanYukti) के साथ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here