Cornflour in Hindi : कॉर्नफ्लोर कैसे बनता है, उपयोग, फायदे, मक्के का आटा में अंतर

11

नमस्कार इस लेख में हम बात करेंगे कॉर्नफ्लोर के बारे में। तो कॉर्न फ्लोर को आप किसी भी किराना या सुपर मार्केट से खरीद सकते हैं इसमें आप एक सावधानी जरूरत है कि आप केवल ब्रांडेड कॉर्नफ्लोर ही खरीदें क्योंकि बाजार में कई प्रकार के कॉर्न फ्लोर ब्रांड उपलब्ध होते हैं जो कि किसी और चीज से बनाए जाते हैं।

कॉर्नफ्लोर रसोईघर एवं रेसिपी बनाने में काम आता है। काॅर्न फ्लोर (cornflour) को कॉर्न स्टार्च (corn starch), मक्के का स्टार्च, मेज स्टार्च (maize starch) भी कहते हैं।

कॉर्नफ्लोर दो शब्दों से मिलकर बना है – Corn + flour जिसमें Corn का मतलब मक्का और flour का मतलब आटा होता है। तो सीधे शब्दों में कहा जाए कि मक्के के आटे को कॉर्न फ्लोर कहा जाता है। लेकिन ऐसा नहीं है मक्के का आटा अलग होता है। और कॉर्नफ्लोर अलग होता है। मक्के के आटे और कॉर्न फ्लोर में क्या अंतर है। जो हम आपको नीचे लेख में बताएंगे।

कॉर्न फ्लोर में बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो कि हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं एवं बच्चों के लिए भी यह बहुत फायदेमंद होता है। तो आइए जानते हैं कि कॉर्नफ्लोर कैसे बनता है और इसका उपयोग कहां कहां किया जाता है।

Cornflour in hindi : कॉर्नफ्लोर कैसे और किससे बनता है।

कॉर्नफ्लोर पाउडर मक्के से बनता है कॉर्न फ्लोर बनाने के लिए सबसे पहले मशीनों द्वारा मक्के को सुखाकर उसका छिलका हटाया जाता है। इसके बाद मशीनों द्वारा इस को पीसकर बिल्कुल पाउडर की तरह बनाया जाता है। जिसे कॉर्नफ्लोर कहते हैं। जो कि बिल्कुल फॉर्म या मुलायम रहता है।

Cornflour in hindi : कॉर्न फ्लोर का उपयोग एवं इस्तेमाल

  • साधारण तौर पर कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल फिलर, बाइन्डर के रूप में और तरल खाद्य सामग्री को गाढ़ा करने के लिए किया जाता है।
  • कॉर्न फ्लोर सब्जी को गाढा करने के काम आता है।
  • कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल आलू की टिक्की बनाने में भी किया जाता है। इससे आलू की टिक्की पटती नहीं है।
  • कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल कोफ्ते बनाने, मंचूरियन की ग्रेवी को गाढ़ा करने, फ्रेन्च फ्राय को क्रिस्पी कोटिंग देने के भी किया जाता है।
  • इसका इस्तेमाल कई मिठाइयां बनाने में भी किया जाता है – जैसे कि गुलाब जामुन, छेना शादी।
  • कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल केक एवं कई प्रकार की सॉस बनाने के लिए भी किया जाता है।
  • जिन लोगों को ग्लूटेन से एलर्जी होती है बाय कॉर्नफ्लोर का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि यह ग्लूटेन फ्री होता है।

कॉर्नफ्लोर (Cornflour) और मक्के के आटे में अंतर

  • मक्के का आटा कॉर्नमील फ्लोर (cornmeal flour) कहलाता है जबकि कॉर्न फ्लोर मक्के का स्टार्च होता है।
  • कॉर्न फ्लोर बनाने के लिए पहले मक्के के दाने से उसका छिलका हटाया जाता है और फिर उसे पाउडर की तरह पीसकर तैयार किया जाता है। लेकिन मक्के का आटा मक्के के दानों को ऐसे ही मशीन से पीसकर तैयार हो जाता है।
  • कॉर्नफ्लोर बिल्कुल पाउडर की तरह मुलायम होता है लेकिन मक्के का आटा चक्की के द्वारा पीसा जाता है इसलिए यह थोड़ा दरदरा टाइप का होता है।
  • कॉर्न फ्लोर पाउडर का रंग सफेद होता है लेकिन मक्के के आटे का रंग पीला या हल्का पीला होता है।

Corn flour in hindi video: कॉर्न फ्लोर की पूरी जानकारी वीडियो

Video by raj rani

तो यह थी कॉर्न फ्लोर के बारे में कुछ जानकारी तो आपको यह लेख कैसा लगा इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर जरूर करें टिप्पणी करके हमें जरूर बताएं।

इन्हें भी पढ़ेंरागी क्या है? इसके फायदे व नुकसान

आरारोट क्या है कैसे बनता है और इसके फायदे और इस्तेमाल

मैं GNM नर्सिंग का कोर्स कर रही हूं। मुझे स्वास्थ्य व फिटनेस एवं खान-पान के बारे में लिखना पसंद है। एवं इसी से संबंधित लेख लिखती हूं। आशा है आप सभी को मेरे लेख पसंद आएंगे।

11 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here